- बरसेंगे बम.मचेगी तबाही, वैगनर लड़ाकों के चलते छिड़ेगा वर्ल्ड वॉर! जानिए कैसे | सच्चाईयाँ न्यूज़

बुधवार, 2 अगस्त 2023

बरसेंगे बम.मचेगी तबाही, वैगनर लड़ाकों के चलते छिड़ेगा वर्ल्ड वॉर! जानिए कैसे

बरसेंगे बम.मचेगी तबाही, वैगनर लड़ाकों के चलते छिड़ेगा वर्ल्ड वॉर! जानिए कैसे
 


संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत लिंडा थॉमस ग्रीनफील्ड ने चेतावनी दी है कि बेलारूस-पोलैंड बॉर्डर पर मौजूद वैगनर लड़ाकों ने अगर पोलैंड पर हमला किया तो इसे रूस का नाटो पर हमला माना जाएगा. ऐसे में नाटो के आर्टिकल 5 के मुताबिक, नाटो को जवाबी कार्रवाई करनी होगी. अमेरिका की यह चेतावनी तब आई है, जब बेलारूस में हजारों की संख्या में वैगनर आर्मी के लड़ाके मौजूद हैं. पोलैंड के प्रधानमंत्री ने बेलारूस-पोलैंड बॉर्डर पर 100 से अधिक वैगनर लड़ाकों के देखे जाने की बात स्वयं मानी है. वैगनर के इन लड़ाकों द्वारा पोलैंड पर आक्रमण की आशंका खुद पोलैंड के रक्षा मंत्रालय द्वारा जतायी जा चुकी है. पोलैंड के अलावा दूसरे यूरोपीय देश भी वैगनर लड़ाकों के मूवमेंट पर पैनी नज़र बनाये हुए है. वैगनर की वजह से छिड़ सकता है तीसरा विश्वयुद्ध? वैगनर लड़ाके अपने दुस्साहसिक एक्शन के लिए जाने जाते हैं. पिछले दिनों रूस के साथ वैगनर की एक दिन चली बगावत को पूरी दुनिया ने देखा था. जानकारों का मानना है कि मॉस्को पर लगातार हो रहे ड्रोन हमले के जवाब में वैगनर लड़ाके पोलैंड पर अटैक कर सकते हैं. बेलारूस में वैगनर की मौजूदगी पहले ही पोलैंड समेत सभी पश्चिमी देशों के लिए सरदर्द बनी हुई है. बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको ने यह कहकर आग में घी डालने का काम किया है कि वैगनर लड़ाकों को ऐसा ना करने से वो रोक रहे हैं. आशंका है कि किसी भी तरह के हालात बिगड़ने पर सुवाल्की कॉरिडोर के पास मौजूद सौ से अधिक वैगनर फाइटर्स पोलैंड की सीमा में घुसने की कोशिश कर सकते हैं. अगर ऐसा हुआ तो पोलैंड को इस युद्ध में सीधे-सीधे भाग लेना होगा. पोलैंड के युद्ध में शामिल होते रूस और नाटो की जंग शुरू हो जाएगी. वैगनर लड़ाकों के एक्शन होते ही तीसरे विश्वयुद्ध का ऐलान हो जाएगा. बेलारूस का साथ देगा रूस, पोलैंड पर पुतिन की खरी-खरी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पहले ही साफ कर चुके हैं कि बेलारूस पर अगर पोलैंड ने कोई सैन्य कार्रवाई की तो संधि के तहत रूस, बेलारूस की रक्षा के लिए आगे आएगा. पोलैंड ने बेलारूस बॉर्डर पर अपनी सेना तैनात कर रखी है. इसके अलावा क्रेमलिन का मानना है कि पोलैंड पश्चिमी यूक्रेन को हथियाना चाहता है और लुबिन ट्राएंगल के नाम पर लिथुआनिया और यूक्रेन के साथ मिलकर पश्चिमी यूक्रेन में सैन्य कार्रवाई कर सकता है.

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search