- Crime in UP:पुलिस की गिरफ्त में खिड़कियां काटकर चोरी करने वाले बच्चे, स्कूल की खिड़की काट कर बेचते थे | सच्चाईयाँ न्यूज़

बुधवार, 2 अगस्त 2023

Crime in UP:पुलिस की गिरफ्त में खिड़कियां काटकर चोरी करने वाले बच्चे, स्कूल की खिड़की काट कर बेचते थे

Crime in Noida: पुलिस की गिरफ्त में खिड़कियां काटकर चोरी करने वाले बच्चे, स्कूल की खिड़की काट कर बेचते थे


नोएडा पुलिस ने सरकारी स्कूल से खिड़कियां चुराने वालों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने प्रिंसिपल की शिकायत के बाद छानबीन शुरू की थी. पुलिस ने तीन नाबालिग बच्चों और 1 खरीदार को अपनी गिरफ्त में लिया है. नई दिल्ली/नोएडा : नोएडा के सरकारी स्कूल से खिड़कियां चोरी करने वाला चोर पुलिस की गिरफ्त में है. थाना सेक्टर 39 क्षेत्र के सलारपुर में स्थित प्राथमिक विद्यालय में घुसकर इन्होंने स्कूल की खिड़कियां चुरा ली थी. लोगों के अनुसार वहां आए दिन असामाजिक तत्व स्कूल में घुसकर चोरी करते हैं और नशा करते हैं. इस मामले में स्कूल के प्रधानाध्यापक की तरफ से थाना सेक्टर 39 में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी. स्कूल में हो उचित सुरक्षा व्यवस्थाः सेक्टर 39 के प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि सलारपुर गांव में स्थित जूनियर हाई स्कूल की प्रधानाध्यापक कल्पना देवी ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि अज्ञात चोरों ने स्कूल के अंदर घुसकर विद्यालय के कक्षाओं में लगी खिड़की काटकर चोरी कर रहे हैं. आए दिन स्कूल में घुसकर असामाजिक तत्व नशा करते हैं और गंदगी फैलाते हैं. प्राधानाध्यापक की शिकायत पर घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की थी. प्रधानाध्यापक ने पुलिस से स्कूल की सुरक्षा के लिए उचित व्यवस्था करने की भी मांग की है. पुलिस ने मामले के बारे में पता लगाते हुए तीन बच्चों को गिरफ्तार किया, जो स्कूल खत्म होने के बाद चोरी छिपे खिड़कियां काटकर बेच देते थे. चोरी का सामान खरीदना वाला भी गिरफ्तारः प्रभारी जितेन्द्र सिंह ने बताया कि बुधवार को थाना सेक्टर-39 की पुलिस ने चोरी करने वाले 3 बाल अपचारी को अभिरक्षा में लिया है. इनसे पूछताछ के बाद पुलिस ने चोरी का माल खरीदने वाले 1 कबाड़ी रोहतास को भी गिरफ्तार कर लिया. इनके कब्जे से चोरी की 4 लोहे की खिड़कियां बरामद की गई. पूछताछ के दौरान बताया कि हम तीनों ने ग्राम सलारपुर के सरकारी स्कूल से चार लोहे की खिडकियां काट कर चोरी की थी, जिनको हम तीनों ने कबाड़ी का काम करने वाले दुष्यन्त को 500 रुपए के हिसाब से बेच दिया था.

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search