- फर्जी - मैसेज और कॉल से मिलेगा छुटकारा , मोबाइल पर कॉलर की ऐसे कर लेंगे पहचान , TRAI ने किया नियम में बदलाव | दैनिक सच्चाईयाँ

सोमवार, 1 मई 2023

फर्जी - मैसेज और कॉल से मिलेगा छुटकारा , मोबाइल पर कॉलर की ऐसे कर लेंगे पहचान , TRAI ने किया नियम में बदलाव

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने ऐसा नियम लाया है कि अब फर्जी मैसेज और कॉल से छुटकारा मिल जाएगी। यूजर्स को कॉल-मैसेज आते ही पता चल जाएगा कि ये फर्जी है।TRAI ने फर्जी कॉल, प्रमोशनल कॉल और एसएमएस के लिए नियमों में आखिरकार बदलाव कर दिया है।

नया नियम आज यानी 1 मई 2023 से लागू हो जाएगा। लोगों को फर्जी कॉल से बचाने के लिए ट्राई एक एआई को सेटअप करेगा। जिससे यूजर्स फर्जी कॉल और एसएमएस से सुरक्षित रहेगा। टेलीकॉम अथॉरिटी ने सभी कंपनियों को निर्देश दिया है कि वे अपने स्मार्टफोन कॉल और मैसेजिंग सेवा में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस स्पैम फिल्टर लगाएं। इस फिल्टर डिवाइस की मदद से फर्जी और परेशान करने वाली कॉल और एसएमएस की पहचान कर सकेंगे।

AI फ़िल्टर कैसे मदद करेगा?

स्मार्टफोन यूजर इन दिनों फेक मैसेज से परेशान है। इस फेक और प्रमोशनल कॉल्स से बचने में ट्राई का एआई मदद करेगा। टेलीकॉम कंपनियां Reliance Jio और Bharti Airtel ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वे जल्द ही AI फिल्टर सेवा शुरू करेंगी। ट्राई ने घोषणा करते हुए कहा कि यह सुविधा आज से ही शुरू हो जाएगी।

बताया जा रहा है कि ट्राई पिछले कुछ समय से फेक कॉल्स और मैसेज को रोकने के लिए काम कर रहा है। यह किसी भी उपयोगकर्ता को ठगने और मोबाइल ग्राहकों को उनके खातों से पैसे लेने, उनके डेटा को हैक करने और बहुत कुछ करने का सबसे आसान तरीका है।

ट्राई ने मांग करते हुए कहा कि मोबाइल नंबर पर आने वाले प्रमोशनल कॉल बंद कर दें। नये फीचर्स के तहत मोबाइल फोन पर कॉलर की फोटो और नाम प्रदर्शित होने लगेगा। जिससे यूजर्स को पता चल सके कि कौन कॉल कर रहा है।

भारती एयरटेल और रिलायंस जियो जैसी दूरसंचार कंपनियां गोपनीयता की चिंताओं के कारण अपने नेटवर्क पर नई एआई तकनीक लाने में हिचकिचा रही हैं। यूजर्स के नंबर पर फर्जी कॉल और संदेशों को रोकने के लिए 1 मई से एआई फ़िल्टर लागू किया जाएगा।



एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search