- पति के प्यार पर भारी पड़ा प्रेमी: पत्नी ने लवर के साथ मिलकर मार डाला, शव 180 KM दूर ले जाकर गाड़ा | सच्चाईयाँ न्यूज़

सोमवार, 7 अगस्त 2023

पति के प्यार पर भारी पड़ा प्रेमी: पत्नी ने लवर के साथ मिलकर मार डाला, शव 180 KM दूर ले जाकर गाड़ा

पति के प्यार पर भारी पड़ा प्रेमी: पत्नी ने लवर के साथ मिलकर मार डाला, शव 180 KM दूर ले जाकर गाड़ा

लवर. राजस्थान के अलवर में फिर एक बार 'पति पत्नी और प्रेमी' की सनसनीखेज खबर सामने आई है. इस सनसनीखेज कहानी के तार अलवर के बानसूर से लेकर दिल्ली से जुड़े हैं. अवैध संबंधों की इस प्रेम कहानी में पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति को दिल्ली में मौत को घाट उतार दिया.

बाद में प्रेमी ने उसके शव को दिल्ली से करीब 180 किमी दूर अलवर जिले के बानसूर में लाकर गाड़ दिया. आरोपी पत्नी और उसका प्रेमी दोनों सीआरपीएफ में कार्यरत हैं.

पुलिस ने रविवार को इस मामले का खुलासा कर आरोपी प्रेमिका और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों की निशानदेही पर मृतक का शव बानसूर से बरामद कर लिया गया है. पुलिस पूरे मामले की गंभीरता से जांच में जुटी है. दोनों आरोपियों ने मिलकर हत्या की इस साजिश को बेदह शातिराना अंदाज में अंजाम दिया. लेकिन जब उनकी साजिश के तार खुले तो हर कोई हैरान रह गया.

दोनों का कई बरस से चल रहा था प्रेम प्रसंग

खोह थानाप्रभारी गिर्राज प्रसाद ने बताया कि हत्या का शिकार हुआ युवक संजय जाट भरतपुर जिले के खोह थाना इलाके के नरेना चौथ का रहने वाला था. उसकी पत्नी पूनम जाट सीआरपीएफ में कांस्टेबल पद पर दिल्ली में तैनात है. वहीं पर बानसूर निवासी रामप्रताप गुर्जर भी सीआरपीएफ में तैनात हैं. पूनम और रामप्रताप का कई बरसों से प्रेम प्रसंग चल रहा था.

प्रेमी हत्या करने के लिए बानसूर से दिल्ली गया

हाल ही में पूनम का प्रेमी रामप्रताप बानसूर छुट्टी पर आया हुआ था. उसी दौरान उसके पास उसकी प्रेमिका पूनम का फोन आया कि पति उससे मारपीट करता है इसे समझा दो. इस पर रामप्रताप बानसूर से दिल्ली गया. वहां पहुंचने के पश्चात 31 जुलाई की देर रात को दोनों ने मिलकर संजय की हत्या कर दी. हत्या करने के बाद आरोपी प्रेमी संजय के शव को लेकर बानसूर पहुंचा. बानसूर पहुंचने के बाद कस्बे में अपने मकान के पास में ही स्थित खाली प्लॉट में उसे दफना दिया.

पुलिस ने जांच की तो जुड़ गई कड़ी से कड़ी

वहीं संजय जाट के घर नहीं लौटने पर उसके परिजनों ने उसकी गुमशुदगी की सूचना खोह थाना पुलिस को दी. पुलिस ने जब मामले की जांच की तो कड़ी से कड़ी जुड़ती गई और पूरे मामले का खुलासा हो गया. इस पर पुलिस पूनम से पूछताछ करने के बाद 4 अगस्त की रात करीब 2 बजे आरोपी रामप्रताप के घर महताला पहुंची. वहां पुलिस आरोपी प्रेमी को हिरासत से लेकर खोह थाने ले गई. पूछताछ में आरोपी ने घटना को कबूल किया और पूरी कहानी बयां कर दी.

पुलिस ने तस्दीक करवाकर मृतक का शव निकलवाया

उसके बाद पुलिस आरोपी प्रेमी रामप्रताप को मौके पर ले गई. वहां उससे शव दफनाने की तस्दीक करवाई. फिर शव को जमीन से निकलवाया. इस दौरान एफएसएल टीम ने साक्ष्य जुटाए. बाद में मृतक के शव का बानसूर के उपजिला अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया गया. बहरहाल पुलिस पूरे मामले की अन्य पहलुओं से भी जांच पड़ताल कर रही है.

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search