- नाबालिग बच्ची का सामूहिक बलात्कार कर भट्टी में झोंका, रूह कंपा देगा राजस्थान का ये मामला | सच्चाईयाँ न्यूज़

शनिवार, 5 अगस्त 2023

नाबालिग बच्ची का सामूहिक बलात्कार कर भट्टी में झोंका, रूह कंपा देगा राजस्थान का ये मामला

नाबालिग बच्ची का सामूहिक बलात्कार कर भट्टी में झोंका, रूह कंपा देगा राजस्थान का ये मामलाराजस्थान में भीलवाड़ा जिले के कोटडी थाना क्षेत्र से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है यहाँ एक नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार एवं उसको कोयले की भट्टी में जला देने के मामले में पुलिस ने जिन चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है, उनसे मामले का पूरा खुलासा हो चुका है।पुलिस अधीक्षक आदर्श सिधू ने बताया कि पुलिस ने साइंटिफिक एविडेंस और अन्य सबूतों के आधार पर इस मामले में 4 लड़कों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने एक बाल अपचारी को भी निरुद्ध किया।

पुलिस ने जब इन अपराधियों से पूछताछ की तो पता चला कि इनमें से दो ने नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार किया था। तत्पश्चात, उसके सिर पर वार किया, जिससे बच्ची बेहोश हो गई। फिर उसे भट्टी में झोंक दिया। कुछ बॉडी पार्ट्स तालाब में फेंक दिए। पुलिस ने जब भट्टी की छानबीन की तो राख से बच्ची का हाथ का कंगन और पंजे की हड्डियां बरामद हुई थीं। 

अपराधियों ने बच्ची को मरा समझकर आरोपियों ने कोयला भट्टी खोलकर उसमें डाल दिया तथा आग लगा दी थी। रात 11 बजे के बाद अपराधियों ने जब भट्टी खोलकर देखी तो उसमें बच्ची का पूरा शरीर जला नहीं था। सिर और छाती का कुछ भाग रह गया था। उन हिस्सों को अपराधियों ने एक थैले में रखा एवं घटनास्थल से 100- 200 मीटर दूरी पर एक तालाब में फेंक दिया। वही रात को 12:30 बजे परिजन जब बच्ची को ढूंढ़ते हुए पहुंचे तो उन्हें एक जगह बच्ची की चप्पलें दिखाई दीं। तत्पश्चात, जब भट्टी में देखा तो उसमें बच्ची का हाथ का कंगन और पंजे की हड्डियां मिलीं। सामूहिक बलात्कार के बाद बच्ची की हत्या कर भट्टी में झोंका था या उसे जिंदा ही भट्टी में झोंक दिया, फिलहाल यह अभी स्पष्ट नहीं है।

एसपी आदर्श सिधू ने बताया कि अपराधियों में से जिन्होंने बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार किया था, उनकी पत्नियां और उनके परिजन भी शव को ठिकाने लगाने में सम्मिलित थे। अन्य अपराधियों को भी पुलिस जल्द गिरफ्तार कर लेगी। एसपी ने कहा कि FSL जांच और अन्य साइंटिफिक जांच के आधार पर पुलिस इस मामले को केस ऑफिसर स्कीम के तहत शीघ्र फास्ट्रैक कोर्ट में चालान पेश कर अपराधियों को सजा दिलाने का प्रयास करेगी। 

इस मामले में लापरवाही के आरोप में एक ASI को भी सस्पेंड किया है। वही इस मामले में कोटडी पुलिस थाने की लापरवाही को लेकर गुर्जर समाज और बीजेपी नेताओं ने आक्रोश व्यक्त कर थाने का घेराव किया। थाने के बाहर धरना शुरू कर दिया है। शनिवार को मालासेरी डूंगरी के महंत ने कोटडी एवं जहाजपुर और शाहपुरा बंद का आह्वान किया है। प्रमुख गुर्जर नेता विजय बैंसला और प्रहलाद गुंजल भी कोटडी पहुंचेंगे। गुर्जर समाज के आक्रोश को देखते हुए अजमेर पुलिस रेंज की आईजी लता मनोज कुमार ने कोटडी के थानाधिकारी खिवराज गुर्जर को निलंबित कर दिया है। इससे पूर्व थाने के तत्कालीन ड्यूटी ऑफिसर सहायक पुलिस उपनिरीक्षक लियाकत को भीलवाड़ा एसपी ने सस्पेंड कर दिया था। आरोप था कि उप निरीक्षक ने बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करने में लापरवाही की थी।

वही प्रदर्शन कर रहे लोग पीड़ित परिवार को 1 करोड़ रुपये का मुआवजा, सरकारी नौकरी एवं कलेक्टर व एसपी को निलंबित करने की मांग पर अड़े हैं। आक्रोशित लोग पुलिस थाने का घेराव कर रहे हैं। कोटडी शाहपुरा और जहाजपुर बंद का आह्वान किया। पूरे राज्य से बड़े आंकड़े में गुर्जर समाज के लोग कोटड़ी पहुंचेंगे। कोटड़ी थाने के बाहर धरने में सवाई भोज मंदिर आसिंद के महंत सुरेश दास, देवनारायण जन्म स्थली मालासेरी के पुजारी हेमराज पोसवाल, बीजेपी नेता पूर्व MLA अतर सिंह भड़ाना, विधायक गोपीचंद मीणा, गोपाल खंडेलवाल, 

विट्ठल शंकर अवस्थी, उप जिला प्रमुख शंकर लाल गुर्जर, बीजेपी जिला अध्यक्ष प्रशांत मेवाड़ा समेत बड़े आंकड़े में बीजेपी नेता एवं गुर्जर समाज के लोग सम्मिलित हैं। नाबालिग बच्ची के अपहरण, सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले की जांच के लिए भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी की महिला सांसदों की चार सदस्यीय समिति बनाई है। इस समिति में सांसद सरोज पांडेय को संयोजक बनाया गया है। रेखा वर्मा, कान्ता कर्दम और लॉकेट चटर्जी इसकी सदस्य होंगी। यह जांच समिति घटनास्थल का दौरा कर अपनी रिपोर्ट जेपी नड्डा को सौंपेगी।


एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search