- भाइयों ने प्रेमी के पिता की तेजधार हथियार से की हत्या, बहन के प्रेम प्रसंग से थे नाराज, बेटा था टारगेट | साप्ताहिक सच्चाईयाँ

शनिवार, 9 सितंबर 2023

भाइयों ने प्रेमी के पिता की तेजधार हथियार से की हत्या, बहन के प्रेम प्रसंग से थे नाराज, बेटा था टारगेट

 


रियाणा के पानीपत में काबड़ी रोड अर्जुन नगर में बहन के प्रेम प्रसंग से नाखुश तीन भाइयों ने प्रेमी के पिता की तेजधार हथियार से मारकर हत्या कर दी। हमलावर बेटे की भी हत्या करना चाहते थे, लेकिन उसको किसी तरह किरायेदारों ने बचा लिया।आरोपी जान से मारने की धमकी देकर मौके से फरार हो गए। डीएसपी मुख्यालय धर्मबीर खर्ब और थाना प्रभारी नरेंद्र मौके पर पहुंचे। पुलिस देर रात तक इस मामले में कार्रवाई की। एफएसएस टीम ने भी मौके से साक्ष्य जुटाए।

वारदात शुक्रवार की रात 8:30 बजे की है। मूलरूप से यूपी के जिला कुशीनगर के गांव माधोपुर निवासी पंकज ने बताया कि उसके पिता विश्वास गिरी (45) पिछले 10 साल से पानीपत में काबड़ी रोड अर्जुन नगर में किराये पर रहते थे। वह हरिनगर में एक फैक्टरी में मशीन चलाते थे। 14 वर्षीय एक युवती के साथ उसका पिछले छह माह से प्रेम प्रसंग चल रहा था।
वह उससे शादी करना चाहती थी। उसके तीन भाई इस शादी से नाखुश थे और वे सब उसे प्रताड़ित करने लगे। वह शुक्रवार शाम पांच बजे अपने पिता विश्वास के साथ मार्केट में सब्जी और अन्य सामान लेने गया था। रात करीब साढ़े आठ बजे घर लौटे तो तीन भाई व एक अन्य युवक घर में घुस आए और उसके पिता पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इसी बीच किरायेदारों ने उसको सीढि़यों से ऊपर भेजकर अंदर कमरे में छिपा दिया।
बचाने आया मकान मालिक हुआ घायल
मकान मालिक विकास ने बताया कि वह हमले की सूचना पाकर मौके पर पहुंचा और बीच-बचाव करने लगा। आरोपियों ने उस पर भी हमला कर दिया। हमले में उसके हाथ के अंगूठे और बाजू पर चोट लगी। उसने शोर मचाया तो आरोपी जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए।
खुद की जान को बताया खतरा
प्रेमिका ने पुराना औद्योगिक थाना प्रभारी को अपनी जान का खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की है। प्रेमिका ने कहा कि एक माह पहले पंकज और उसे उसके भाइयों ने एक साथ देख लिया था, जिसके बाद से उसके साथ अमानवीय व्यवहार करने लगे। उसे जान से मारने की धमकी देते थे, इसलिए उसकी सुरक्षा की जाए। प्रेमिका ने बताया कि शुक्रवार दोपहर वह कपड़े धो रही थी, इसी बीच उसके तीनों भाइयों और एक अन्य युवक घर में नशा कर रहे थे। तीनों ने मिलकर उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। चारों के पास चाकू और दरांत समेत कई तेजधार हथियार थे। इस दौरान उसकी मौसी ने घर आकर उसे बचाया। वह अपनी जान बचाकर दोपहर को घर से भाग गई थी। पंकज के पिता की हत्या की सूचना पाकर घर लौटी।
तीन बच्चों का पिता था विश्वास गिरी
मृतक विश्वास गिरी के तीन बच्चे हैं। जिनमें दो लड़के नीतीश व पंकज और एक लड़की अंजलि है। पंकज अपने पिता के साथ पानीपत में रहता है, जबकि नीतीश और अंजलि अपनी मां इसरावती के साथ गांव माधोपुर, जिला कुशीनगर यूपी में रहते हैं।
पुलिस टीम कर रही कार्रवाई
वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है और आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस टीम आरोपियों की धरपकड़ कर रही हैं। - धर्मबीर खर्ब,डीएसपी मुख्यालय पानीपत

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search