- 250 KM की दूरी और पांच घंटे का सफर... इसी ट्रैवल रूट में छिपी हो सकती है मॉडल दिव्या पाहुजा की लाश | सच्चाईयाँ न्यूज़

शुक्रवार, 5 जनवरी 2024

250 KM की दूरी और पांच घंटे का सफर... इसी ट्रैवल रूट में छिपी हो सकती है मॉडल दिव्या पाहुजा की लाश

 

Model Divya Pahuja Murder Case: मॉडल दिव्या पाहुजा की हत्या के बाद पुलिस को अब तक लाश नहीं मिली है. गुरुग्राम पुलिस लाश को बरामद करने का प्रयास कर रही है. पुलिस हत्या के मुख्य आरोपी अभिजीत सिंह, हेमराज और ओम प्रकाश से भी लगातार पूछताछ में जुटी है.

पुलिस को पंजाब के पटियाला में बस स्टैंड पर BMW कार मिली है, जिससे दिव्या की लाश को ले जाया गया था. इस कार को वहां छोड़कर जाने वालों की भी तलाश की जा रही है.

आरोपियों ने गुरुग्राम पुलिस को पूछताछ में बताया कि उन्होंने दिव्या की लाश को बीएमडब्ल्यू कार में रखकर किसी और के हवाले कर दिया था. इसके बाद उन लोगों ने कार पटियाला के बस स्टैंड पर पार्क कर दी थी. गुरुग्राम पुलिस ने कार पटियाला के बस स्टैंड से रिकवर कर ली है. गुरुग्राम से पटियाला की दूरी करीब 250 किलोमीटर है, वहां तक कार से पहुंचने में करीब पांच घंटे का समय लगता है. अनुमान लगाया जा रहा है कि इसी रूट पर शायद आरोपियों ने दिव्या की लाश कहीं ठिकाने लगाई है.

पुलिस ने जब BMW कार की जांच की, उसे खोलकर देखा तो उसमें दिव्या की लाश फिलहाल बरामद नहीं हुई. गाड़ी में ब्लड मिला है. अभी पुलिस जांच कर रही है कि दिव्या की लाश को आरोपियों ने कहां ठिकाने लगाया है. जिन लोगों ने कार को बस स्टैंड पर छोड़ा, पुलिस उनकी तलाश में जुटी है.

गैंगस्टर, प्रेमिका, एनकाउंटर और बदला... फिल्मी कहानी से कम नहीं है मॉडल दिव्या पाहुजा मर्डर केस

बता दें कि गुरुग्राम में 27 साल की मॉडल दिव्या पाहुजा की मंगलवार की देर रात एक होटल में हत्या कर दी गई. दरअसल, दिव्या पाहुजा पहले गैंगस्टर संदीप गाडोली की गर्लफ्रेंड थी. हत्या के आरोप में पुलिस ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, उनसे पूछताछ जारी है. पुलिस ने दिव्या की हत्या के आरोप में होटल मालिक अभिजीत सिंह, ओम प्रकाश और होटल में काम करने वाले ओम प्रकाश और हेमराज को गिरफ्तार किया है. ओम प्रकाश और हेमराज ने दिव्या की लाश ठिकाने लगाने में मदद की थी.

आरोप है कि होटल मालिक अभिजीत ने दिव्या के शव को ठिकाने लगाने के लिए साथियों को 10 लाख रुपये दिए थे. अभिजीत के दोनों साथी दिव्या के शव को अभिजीत की नीले रंग की BMW कार संख्या DD03K240 की डिग्गी में डालकर फरार हो गए थे. ये पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हुई है.

मुख्य आरोपी होटल मालिक अभिजीत सिंह ने पुलिस को बताया था कि वह होटल सिटी प्वाइंट का मालिक है. होटल को उसने लीज पर दे रखा है. इसी होटल में मॉडल दिव्या पाहुजा की गोली मारकर हत्या की. अभिजीत सिंह ने गुरुग्राम पुलिस के सामने कहा कि उसकी कुछ अश्लील तस्वीरें दिव्या पाहुजा के पास थीं. इन तस्वीरों के जरिए वह ब्लैकमेल कर रही थी. अक्सर पैसे लेती थी. इस बार वह ज्यादा रुपये मांग रही थी.

अभिजीत 2 जनवरी को दिव्या को लेकर होटल पहुंचा था, वहां उसने दिव्या से तस्वीरें डिलीट करने को कहा. जब उसके मोबाइल का पासवर्ड मांगा तो नहीं बताया. इसी बात को लेकर गुस्सा आ गया और गुस्से में दिव्या को गोली मार दी.

मुंबई में गैंगस्टर संदीप गाडोली के एनकाउंटर के वक्त होटल में थी दिव्या

गैंगस्टर संदीप गाडोली के एनकाउंटर के वक्त दिव्या भी मुंबई के उसी होटल में मौजूद थी. वह गैंगस्टर संदीप गाडोली एनकाउंटर केस में मुख्य गवाह भी थी. हरियाणा पुलिस ने जब संदीप गाडोली का एनकाउंटर कर दिया तो इस मामले की जांच मुंबई पुलिस ने की. मुंबई पुलिस ने इस केस में दिव्या को गवाह बनाया. इसी के साथ दिव्या पर अपने बॉयफ्रेंड यानी संदीप गाडोली के खिलाफ हरियाणा पुलिस से मुखबिरी का आरोप लगा था.

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search