- Boycott Maldives के बीच अचानक क्यों चर्चाओं में आया सिंधुदुर्ग? जानें भारत के सबसे स्वच्छ जिले की खास बातें | सच्चाईयाँ न्यूज़

सोमवार, 8 जनवरी 2024

Boycott Maldives के बीच अचानक क्यों चर्चाओं में आया सिंधुदुर्ग? जानें भारत के सबसे स्वच्छ जिले की खास बातें

 भारत-मालदीव विवाद के बीच महाराष्ट्र का जिला सिंधुदुर्ग अचानक चर्चाओं में आ गया है। दरअसल, बॉयकॉट मालदीव के बीच तमाम भारतीय एक्स्प्लोर इंडियन आयलैंड पर जोर दे रह हैं। इसी क्रम में महाराष्ट्र का बेहद खूबसूरत बीच का वाला जिला सिंधुदुर्ग चर्चाओं में है।

दरअसल, क्रिकेट के भगवान् कहे जानेवाले सचिन तेंदुलकर ने अपने जन्मदिन के दिन की कुछ तस्वीरें एक्स पर साझा की हैं। ये तस्वीरें सिंधुदुर्ग के बीच की हैं। सचिन ने ये फोटोज एक्स्प्लोर इंडियन आयलैंड हैशटैग एक साथ शेयर की हैं। आइए जानते हैं क्या खास है सिंधुदुर्ग में साथ ही इसके इतिहास से भी आपको परिचित कराते हैं।

क्यों प्रसिद्ध है सिंधुदुर्ग?

सिंधुदुर्ग महाराष्ट्र में स्थित एक छोटा सा जिला है जो रत्नागिरी जिले से अलग हो कर अस्तित्व में आया था। ये महाराष्ट्र का सबसे कम आबादी वाला और देश का सबसे स्वच्छ जिला है। यहां का जिला मुख्यालय ओरोस है। अरब सागर के किनारे पर बसा यह जिला सुन्दर और स्वच्छ समुद्री किनारों का मालिक है। लोग इसे हिडन जेम यानी की छिपा हुआ रत्न भी कहते हैं। विदेशी बीच और आईलैंड घूमने में हम कहीं न कहीं अपने देश में स्थित बेहद सुन्दर स्थानों के बारे में जान भी नहीं पाते हैं।

सिंधुदुर्ग का इतिहास

सिंधुदुर्ग जिले का इतिहास से भी गहरा नाता रहा है। साल 1695 के दौरान यहां स्थित दुर्ग का निर्माण शिवजी महाराज के पुत्र राजाराम महाराज ने इसका निर्माण कराया था। इसी दुर्ग के नाम पर इस स्थान का नाम सिंधुदुर्ग पड़ा। सिंधुदुर्ग जिला 'कोंकण' के नाम से जाने जाने वाले बड़े भूभाग का दक्षिणी भाग है जो ऐतिहासिक रूप से अपनी लंबी तट रेखा और सुरक्षित बंदरगाहों के लिए प्रसिद्ध है।

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search