- भारत-मालदीव विवाद में 'कांग्रेस' किसके साथ ? पार्टी सुप्रीमो मल्लिकार्जुन खड़गे ने बताया स्टैंड ! | सच्चाईयाँ न्यूज़

मंगलवार, 9 जनवरी 2024

भारत-मालदीव विवाद में 'कांग्रेस' किसके साथ ? पार्टी सुप्रीमो मल्लिकार्जुन खड़गे ने बताया स्टैंड !

 भारत-मालदीव के बीच जारी विवाद को लेकर एक तरफ जहाँ खेल जगत से लेकर बॉलीवुड तक सभी हस्तियां भारत और केंद्र सरकार के पक्ष में खड़ी नज़र आ रहीं हैं, वहीं देश पर सबसे अधिक समय तक शासन करने वाली पार्टी कांग्रेस ने एक अलग ही रुख अपनाया है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने आज मंगलवार (9 जनवरी) को कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी "हर चीज को व्यक्तिगत रूप से लेते हैं।''

दरअसल, इस पूरे विवाद की शुरुआत उस समय हुई, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ विकास परियोजनाओं का शुभारंभ करने लक्षद्वीप की यात्रा पर गए थे। वहां उन्होंने स्नोर्कलिंग (Snorkeling) की और अपने देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कुछ तस्वीरें खिंचवाई, जो देखते ही देखते वायरल हो गईं। अब तक भारत ने किसी भी तरह मालदीव का नाम नहीं लिया था। लेकिन पीएम मोदी की इन तस्वीरों पर मालदीव के तीन मंत्रियों ने अपमानजनक टिप्पाणियां कर दी। एक ने उन्हें इजराइल की कठपुतली कहा, तो दूसरे ने भारत को श्रीलंका की नकल करने वाला कहा, तीसरे ने भारत को लेकर विवादित बयान देते हुए कह दिया कि भारत में (गंदी) स्मेल आती है। इन सब चीज़ों से भारतीय भड़क उठे, सोशल मीडिया पर #BoycottMaldives टॉप ट्रेंड करने लगा। फिल्म जगत से लेकर खेल जगत तक की कई हस्तियों ने कह दिया कि, हम मालदीव नहीं जाएंगे, हमारे देश और प्रधानमंत्री का अपमान करने वाले देश का बहिष्कार करेंगे। यहाँ तक कि, मेक माय ट्रिप ने मालदीव की सभी बुकिंग कैंसिल कर दी, यह कहते हुए कि, देश से ऊपर कुछ भी नहीं। देश के आक्रोश को समझते हुए, इसके बाद जाकर भारत सरकार की प्रतिक्रिया आई और उन्होंने मालदीव के राजदूत को तलब कर अपना विरोध दर्ज कराया।

उधर मालदीव में पूर्व राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने खुद वहां की सरकार की निंदा की है और भारत के खिलाफ अपमानजनक बयान देने के लिए माफ़ी मांगने को कहा है। मालदीव ने भी 3 मंत्रियों को निलंबित कर दिया है। किन्तु अब भी वहां असंतोष का माहौल है, मालदीव की संसद में राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी चल रही है। मोहम्मद मुइज्जू को चीन का खास माना जाता है, अभी भी वह चीन में ही हैं, उन्होंने राष्ट्रपति पद संभालते ही INDIA Out का नारा भी दिया था, तब से ही दोनों देशों में रिश्ते थोड़े तनावपूर्ण थे। अब भारत सरकार ने सख्त रुख दिखाया है, तो कांग्रेस प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे कह रहे हैं कि, प्रधानमंत्री चीज़ों को व्यक्तिगत लेते हैं।

कर्नाटक के कलबुर्गी में पत्रकारों से बात करते हुए खड़गे ने कहा है कि, ''नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद वह हर चीज को निजी तौर पर ले रहे हैं।'' उन्होंने कहा कि, "अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हमें अपने पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध रखने चाहिए। हमें समय के अनुसार कार्य करना चाहिए। हम अपने पड़ोसियों को नहीं बदल सकते।" गौर करने वाली बात ये है कि, मालदीव द्वारा INDIA OUT का नारा दिए जाने और भारत तथा प्रधानमंत्री के खिलाड़ विवादित बयान दिए जाने के बाद जहाँ खुद उसके देश में सरकार की आलोचना हो रही है, वहीं भारत में सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी कांग्रेस, अपनी ही सरकार को दोष दे रही है। ऐसे में सवाल ये उठ रहा है कि, भारत-मालदीव विवाद में आखिर कांग्रेस किसके साथ है

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search