- रमजान से पहले निपटा दो; इजरायल का 23 लाख की आबादी वाले शहर पर खतरनाक प्लान | सच्चाईयाँ न्यूज़

रविवार, 11 फ़रवरी 2024

रमजान से पहले निपटा दो; इजरायल का 23 लाख की आबादी वाले शहर पर खतरनाक प्लान


 गाजा पर जारी हमले के बीच प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के पहले की तुलना में अधिक खतरनाक हो चुके हैं। उनका मानना ​​है कि अंतरराष्ट्रीय दबाव को देखते हुए इजरायल के पास राफा में अपने ऑपरेशन को पूरा करने के लिए केवल एक महीना बचा है।

आपको बता दें कि राफा ऑफरेशन के जरिए इजरायल गाजा में शेष बचे हमास के ऑपरेटिव बटालियनों को खत्म करना चाहता है। अब उन्होंने इसके लिए समय तय कर दिया है।

चैनल 12 की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने हाल ही में युद्ध में शामिल सैन्य अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा कि गाजा के सबसे दक्षिणी शहर में जारी ऑपरेशन को मुस्लिमों के पवित्र महीना रमजान के पहले पूरा करना होगा। आपको बता दें कि इस साल 10 मार्च से रमजान शुरू होने वाला है।

राफा ऑपरेशन पर चर्चा के दौरान आईडीएफ चीफ ऑफ स्टाफ हर्जी हलेवी ने नेतन्याहू को बताया कि इजरायल रक्षा बल ऑपरेशन के लिए तैयार थे, लेकिन सरकार को पहले यह तय करने की आवश्यकता थी कि वह क्या करना चाहती है। विस्थापित गाजावासी वहां शरण लिए हुए हैं।

गाजा में इजरायली हमलों में 44 फलस्तीनी की मौत
इजरायल की ओर से किए गए हवाई हमलों में शुक्रवार देर रात गाजा पट्टी के राफा क्षेत्र में कम से कम 44 फलस्तीनी मारे गए। ये हमले इजरायल के प्रधानमंत्री के उस बयान के कुछ घंटों बाद किए गए, जिसमें उन्होंने जमीनी हमले से पहले दक्षिणी गाजा शहर से हजारों लोगों को निकालने के लिए सेना से योजना तैयार करने को कहा था। बेंजामिन नेतन्याहू ने इस योजना को लेकर न तो विवरण दिया और न ही समय की जानकारी दी, लेकिन इस घोषणा से दहशत फैल गई। इजरायल द्वारा क्षेत्र को खाली करने के लिए बार-बार जारी किए जा रहे आदेश के बाद गाजा के 23 लाख लोगों में से आधे से अधिक राफा की ओर चले गए हैं।

नेतन्याहू और बाइडन प्रशासन के बीच चल रही तनातनी के दौर में ही जमीनी हमलों की योजना बनाई गई। अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि वहां रह रहे लोगों के लिए कोई योजना बनाए बिना राफा में जमीनी हमला करने से बड़ी जनहानि होगी। हाल के सप्ताह में लोगों ने कहा था कि खान यूनिस शहर में जमीनी हमले शुरू होने के बाद उन्होंने राफा में आश्रय लिया हुआ है, इसके बावजूद इजरायल की ओर से प्रतिदिन ही हवाई हमले किए जा रहे हैं।

घरों पर किए हमले
एक स्वास्थ्य सेवा के अधिकारी के अनुसार शुक्रवार रात राफा क्षेत्र में घरों पर किए गए तीन हवाई हमलों में 10 बच्चों समेत 44 लोगों की मौत हो गई, जिनमें सबसे कम उम्र का बच्चा तीन माह का था। गाजा में स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता अशरफ अल किदरा ने बताया कि खान यूनिस में जमीनी हमले के तहत इजरायली सेना ने क्षेत्र के सबसे बड़े नासिर अस्पताल को निशाना बनाया, जिसमें कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई और कई घायल हो गए।

दमिश्क क्षेत्र पर भी मिसाइल हमला किया
सीरिया की राजधानी दमिश्क के पश्चिमी इलाकों को इजरायल ने आधी रात के बाद निशाना बनाकर मिसाइल से हमला किया। प्रत्यक्षदर्शियों और स्थानीय मीडिया ने शनिवार तड़के यह जानकारी दी। सरकार समर्थक अल-वतन समाचार आउटलेट ने कहा कि दमिश्क के पश्चिमी ग्रामीण इलाकों में जोरदार विस्फोटों की आवाज सुनी गई, यह एक इजरायली हमला था। प्रत्यक्षदर्शियों और सरकार समर्थक मीडिया आउटलेट्स के अनुसार विस्फोटों की आवाज को दमिश्क के पश्चिम में डिमास क्षेत्र के बाहरी इलाके के साथ-साथ मशरू डुम्मर पड़ोस में भी सुना गया था। सीरिया के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि हमला इजरायल के कब्जे वाले गोलान हाइट्स के ऊपर से शुरू किया गया था। वायु रक्षा प्रणाली ने कुछ मिसाइलों को रोक दिया था। हमले से भौतिक क्षति हुई है। 24 घंटे से भी कम समय में यह दूसरा हमला था।

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search