- Pakistan Election: नवाज शरीफ नहीं बनना चाहते प्रधानमंत्री! कौन संभालेगा पाकिस्तान की कमान? | सच्चाईयाँ न्यूज़

रविवार, 11 फ़रवरी 2024

Pakistan Election: नवाज शरीफ नहीं बनना चाहते प्रधानमंत्री! कौन संभालेगा पाकिस्तान की कमान?


 Pakistan Election 2024 : पाकिस्तान में अगली सरकार के लिए हुए चुनाव में अभी तक किसी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिल पाया है। इसी बीच एक खबर यह आई है कि तीन बार प्रधानमंत्री रहे नवाज शरीफ चौथी बार यह पद संभालने के लिए बहुत इच्छुक नहीं है।

रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के सूत्रों ने बताया कि इस बात की संभावना है कि नवाज के भाई शहबाज शरीफ एक बार फिर यह पद संभाल सकते हैं।

आठ फरवरी को पाकिस्तान में मतदान हुआ था। आज रविवार को 11 तारीख हो गई है और अभी तक परिणाम नहीं आ पाया है। यहां के चुनावी मैदान में यूं तो दर्जनों पार्टियां हैं लेकिन असल मुकाबला इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई), नवाज शरीफ की पीएमएल-एन और बिलावल भुट्टो जरदारी की पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के बीच था। इमरान खान की पार्टी के उम्मीदवार इस चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उतरे हैं।

क्या चाहते हैं नवाज शरीफ?

सूत्रों के अनुसार नवाज शरीफ के बारे में कहा जा रहा है कि वह अपनी बेटी मरियम नवाज के लिए पंजाब का मुख्यमंत्री पद चाहते हैं। एक सूत्र ने कहा कि नवाज के सेना विरोधी रुख की वजह से भी उनके नेतृत्व वाली सरकार के विचार पर सहजता नहीं बन पा रही है। सेना को लगता है कि शहबाज शरीफ इस काम के लिए बेहतर रहेंगे। हालांकि, राजनीतिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान का भविष्य क्या होगा यह तो चुनाव परिणाम आने के बाद ही साफ होगा।

अभी तक क्या है परिणाम?

ताजा जानकारी के मुताबिक अब तक 265 में से 257 सीटों पर परिणाम घोषित हो चुके हैं। इनमें पीटीआई समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने 102 सीटों पर जीत हासिल की है। वहीं, पीएमएलएन के खाते में 73 सीटें आई हैं और दो निर्दलीयों ने भी इसे समर्थन दिया है। इसके अलावा पीपीपी को केवल 54 सीटों पर जीत मिल पाई है। यहां सरकार बनाने के लिए सभी पार्टियां कोशिश कर रही हैं लेकिन अभी तक किसी को भी कुछ खास सफलता नहीं मिल पाई है।

आज पीटीआई का प्रदर्शन

पीटीआई ने ऐलान किया है कि चुनाव में धांधली और फर्जीवाड़े के खिलाफ दोपहर 2 बजे से पूरे पाकिस्तान में शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया जाएगा। पार्टी ने यह भी कहा कि हमारे जीते हुए निर्दलीय उम्मीदवारों को आज किसी न किसी पार्टी से जोड़ दिया जाएगा क्योंकि वह सरकार बनाने का दावा पेश नहीं कर सकते हैं। सूत्रों के अनुसार माना जा रहा है कि पीटीआई इसके लिए मजलिस वहादत-ए-मुस्लिमीन पाकिस्तान (एमडब्ल्यूएमपी) से हाथ मिला सकती है।

एक टिप्पणी भेजें

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search